रूके हुए सारे काम हो जाएंगे पूरे…

देवताओं के सेनापति मंगल के कारक हनुमान जी माने गए हैं, ऐसे में सप्ताह का दिन मंगलवार को श्री हनुमान को समर्पित किया गया है, लेकिन इसके अलावा शनिवार के दिन भी हनुमान की पूजा का विधान है। माना जाता है कि शनिवार को हनुमान की पूजा से शनि के दुष्प्रभाव में कमी आती है। पंडित सुनील शर्मा के अनुसार मुख्य रूप से भगवान हनुमान जी की पूजा का दिन मंगलवार का माना गया है।

वहीं इस दिन एक खास तरह की पूजा करने से बजरंग बली ना सिर्फ प्रसन्न होते है, बल्कि अपने भक्तों के जीवन से सारी बाधाएं दूर कर देते हैं। इसके साथ ही भक्तों की सारी मनोकामनाएं भी पूर्ण कर देते हैं।

पंडित शर्मा के अनुसार हनुमान जी को लाल रंग बहुत पसंद है। इसके अलावा बनारसी पान भी हनुमान जी को बहुत प्रिय है। मान्यता है कि मंगलवार के दिन जो भी भक्त हनुमान जी को पान अर्पित करता है, उससे वह बहुत प्रसन्न हो जाते हैं। लेकिन बता दें कि सिर्फ पान अर्पित करने से बजरंग बली प्रसन्न नहीं होते हैं और यदि आप भी हनुमान जी को प्रसन्न करना चाहते हैं।

तो इस दिन हनुमान जी को पीपल के पत्ते की माला पान के साथ अर्पित करनी चाहिए। माना जाता है कि मंगलवार को ऐसा करने से आपके रूके हुए सारे काम पूरे हो जाएंगे। साथ ही खुशियां आपके जीवन में आ जाएंगी।

यहां इस बात का ध्यान रहे कि केवन पान नहीं बल्कि पान का बेड़ा हनुमान जी को अर्पित करना है। मतलब पान लगाकर हनुमान जी को अर्पित करना है। जो सामग्री पान में डाली जाती है उसे आपकाे खुद ही एकत्रित करनी है और फिर उससे पान का बीड़ा बनाएं। मंगलवार के दिन पीपल के पत्ते तोड़कर आप माला बनाएं। आइये आपको बताते हैं कि हनुमान जी का आशीर्वाद अपने ऊपर बनाने के उपाय…

ऐसे करें पूजा की तैयारी
इसके तहत मंगलवार के दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में स्नान करके पीपल के पत्ते 11 तोड़ लें। ध्यान रहे ही पत्ते साबुत होने चाहिए। किसी भी तरह का छेद पत्तों में न हो और न ही खंडित पत्ते होने चाहिए। उसके बाद साफ जल में पत्तों को धो लें और उस पर कुमकुम या चंदन लगा लें। पत्तों पर श्रीराम लिखकर उसकी माला बना लें। बाद में हनुुमान जी के मंदिर में जाकर इस माला को अर्पित कर दें। उसके अलावा रसीला पान भी हनुमान जी को अर्पित करें।

पान ऐसे बनाएं
कत्‍था, गुलकंद, सौंफ, घिसा नारियल और सुमन कतरी पान में मिलाकर डालें। ऐसा करने से पान रसीला बन जाएगा। ध्यान रहे कि भूल कर भी चूना या सुपारी या तंबाकू इस पान में नहीं डालना है। माना जाता है कि हनुमान जी को पान अर्पित करने से जीवन की हर समस्या दूर हो जाती है।

बजरंगबली को प्रसन्न के ये भी हैं उपाय…

: हनुुमान चालीसा के साथ बजरंगबाण पढ़ने से हनुुमान जी की कृपा भक्तों पर बनी रहती है।

: केवेड़ का इत्र या गुलाब की माला मंगलवार के दिन हनुमान जी के मंदिर में शाम को जाकर अर्पित कर दें।

: मंगलवार के दिन गरीब कन्याओं को बेसन के लड्डू या हलवा भोग लगाने के बाद खिलाएं।

: पीपल के पेड़ में दीपक हर मंगलवार की शाम को जलाना चाहिए और हनुमान चालीसा वहीं बैठकर पढ़ें।

: ऊं हं हनुमते नमः मंत्र का जाप मंगलवार के दिन 108 माला पर करें।

पं शर्मा के अनुसार सादगी और प्रेम बजरंगबली को बहुत पसंद है। हनुुमान जी के सामने आप सच्चे मन से हाथ जोड़ते हैं तो भी वह प्रसन्न होकर आप पर अपनी कृपा बरसा देंगे।















Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here