• Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Subramanian Swamy Claims Trimurti Businesses Have Unearthed Enormous Proof To Show In Court docket That Sushant Singh Rajput’s Dying Was Homicide By Conspiracy

7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सुब्रमण्यम स्वामी के मुताबिक तीनों प्रमुख एजेंसियां ऐसे कई सबूतों का खुलासा कर चुकी हैं, जिनसे सुशांत की मौत को हत्या साबित किया जा सकता है।

  • स्वामी ने तीनों प्रमुख एजेंसियों द्वारा अबतक हुई जांच के आधार पर किए ट्वीट
  • ट्वीट में उन्होंने लिखा, त्रिमूर्ति एजेंसियां कई बड़े सबूतों का खुलासा कर चुकी हैं

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का दावा है कि सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले की जांच कर रही तीनों प्रमुख एजेंसियों ने उन बड़े सबूतों को खोज लिया है, जिनसे अदालत में ये साबित किया जा सकता है कि सुशांत की हत्या हुई थी और इसे साजिश के तहत अंजाम दिया गया। ये बात उन्होंने सीबीआई, ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) और एनसीबी (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) द्वारा अबतक की गई जांच के निष्कर्षों के आधार पर कही।

शनिवार को किए अपने दो ट्वीट में ना केवल उन्होंने इस बात पर भरोसा जताया कि सुशांत को न्याय मिल जाएगा, बल्कि ये भी कहा कि बॉलीवुड में चल रही सफाई प्रक्रिया के चलते वे सही भी साबित हो जाएंगे।

सीबीआई ले सकती है फैसला

अपने पहले ट्वीट में स्वामी ने लिखा, “सुशांत सिंह राजपूत के भक्त पूछते हैं कि SSR केस की सुनवाई कब शुरू होगी। मैं नहीं बता सकता, क्योंकि बॉडी नहीं होने की वजह से एम्स की टीम स्वतंत्र जांच नहीं कर सकती। इसलिए अस्पताल के रिकॉर्ड्स पर भरोसा करते हुए उसने बताया कि ‘हत्या तो नहीं हुई है, लेकिन सीबीआई परिस्थितिजन्य सबूतों के आधार पर फैसला ले सकती है।’ इसलिए सीबीआई, ईडी, एनसीबी ने इतना जोश दिखाया।”

सुशांत को न्याय मिलेगा

अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘अब जब त्रिमूर्ति एजेंसियां बड़े सबूतों का खुलासा कर चुकी हैं, जिससे मुझे पूरा विश्वास है कि सीबीआई के लिए अदालत में ये साबित करना आसान हो जाएगा कि निश्चित रूप से ये साजिश के तहत की गई हत्या का मामला है। ना केवल सुशांत को न्याय मिलेगा, बल्कि वे बॉलीवुड में चल रही सफाई प्रक्रिया में वे सही भी साबित हो जाएंगे।’

सलीके से सबूतों को नष्ट किया गया

three सितंबर को किए एक ट्वीट में स्वामी ने दावा किया था कि सुशांत केस में सबूतों को व्यवस्थित तरीके से नष्ट किया गया है। उन्होंने लिखा था, ‘सबूतों को सलीके से नष्ट किया गया था। इसलिए इस केस में बहुत सावधानी से रिकंस्ट्रक्शन करने की जरूरत होगी। अगले ही दिन सुशांत का अंतिम संस्कार कर दिया गया था, इसलिए कूपर अस्पताल की ऑटोप्सी रिपोर्ट का निर्धारण करना सबसे कठिन काम होगा। इसलिए सीबीआई द्वारा प्राप्त परिस्थिजन्य साक्ष्यों और स्वीकारोक्ति के जरिए इस अंतर को भरा जा सकता है।’

ऑटोप्सी में भी देरी का आरोप लगाया था

इससे पहले 25 अगस्त को किए अपने ट्वीट में स्वामी ने सुशांत को जहर देने का आरोप लगाते हुए कहा था कि ‘हत्यारों और उनकी पहुंच की शैतानी मानसिकता धीरे-धीरे सामने आ रही है। ऑटोप्सी को जानबूझकर जबरन लेट किया गया, ताकि सुशांत सिंह के पेट में जहर घुल जाए। जो लोग इसके जिम्मेदार हैं, उन पर नकेल कसने की जरूरत है।’

सुशांत की मौत से जोड़ा था दुबई कनेक्शन

24 अगस्त को किए अपने ट्वीट में स्वामी ने सुशांत की मौत का दुबई कनेक्शन बताया था। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था, ‘जैसे एम्स के डाक्टर्स को सुनंदा पुष्कर के पेट में असली जहर मिला था। वैसा श्रीदेवी और सुशांत के केस में नहीं हुआ। सुशांत की मौत वाले दिन दुबई के ड्रग डीलर अयाश खान ने उनसे मुलाकात की थी? आखिर क्यों?’

रिया और महेश भट्ट पर उठाया था सवाल

इससे पहले स्वामी ने एक अन्य ट्वीट करते हुए रिया चक्रवर्ती पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था, ‘अगर रिया चक्रवर्ती ऐसे सबूत देना जारी रखती हैं जो महेश भट्ट से हुई उनकी बातचीत से विरोधाभासी हैं, तो सच्चाई तक पहुंचने के लिए सीबीआई के सामने उन्हें गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ करने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचेगा।’

0

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here