• ब्रिटिश पीएम जॉनसन के एक सहयोगी पर लॉकडाउन उल्लंघन का आरोप लगा है
  • डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, 1 साल से कम उम्र के बच्चों को दिया जाने वाला टीकों का काम लगभग 68 देशों में प्रभावित हुआ

दैनिक भास्कर

Might 24, 2020, 02:10 AM IST

वॉशिंगटन. दुनिया में अब तक 53 लाख 66 हजार 267 लोग संक्रमित हैं। 21 लाख 89 हजार 033 लोग ठीक हुए हैं। मौतों का आंकड़ा Three लाख 42 हजार 164 हो गया है।  स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेझ ने शनिवार को दो अहम ऐलान किए। पहला- देश में जुलाई से विदेशी पर्यटक देश आ सकेंगे। इसके लिए जरूरी तैयारियां जारी हैं। दूसरा- मंगलवार से 10 दिन का राष्ट्रीय शोक होगा। यह उन लोगों की याद में होगा जिन्होंने महामारी में जान गंवाई है।

कोरोनावायरस : 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 16,55,670  98,145 4,38,562
रूस 3,35,882  3,388 1,07,936
ब्राजील 3,40,837 21,678 1,35,430
स्पेन 2,81,904 28,628 1,96,958
ब्रिटेन 2,57,154 36,675 उपलब्ध नहीं
इटली 2,29,327 32,735 1,38,840
फ्रांस 1,82,219 28,289 64,209
जर्मनी 1,79,713 8,352 1,59,000
तुर्की 1,54,500 4,276 1,16,111
ईरान 1,33,521 7,359 102,276

ये आंकड़े https://www.worldometers.data/coronavirus/ से लिए गए हैं।

स्पेन : जुलाई से आ सकेंगे विदेशी पर्यटक
प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेझ ने शनिवार को कहा कि जुलाई से देश में विदेशी पर्यटक फिर आ सकेंगे। इसके अलावा यहां की मशहूर फुटबॉल लीग ला लीगा भी Eight जून से शुरू हो जाएगी। सांचेझ ने कहा, “हमने पूरी सुरक्षा के साथ तैयारियां शुरू कर दी हैं। दूसरे देशों के वो लोग जो हमारे यहां छुट्टियां मनाने आना चाहते हैं, हम जुलाई की शुरुआत से उनका स्वागत करने तैयार हैं।” 

स्पेन : 10 दिन मनाया जाएगा शोक
प्रधानमंत्री सांचेझ के मुताबिक, देश में कोविड 19 की वजह से मारे गए लोगों को 10 दिन तक श्रद्धांजलि दी जाएगी। यह क्रम मंगलवार से शुरू होगा। इससे संबंधित एक आदेश जल्द ही जारी किया जाएगा। सांचेझ ने कहा- यह हमारे देश में अब तक की सबसे ज्यादा दिन चलने वाला शोक काल होगा। सरकार गरीबों के लिए न्यूनतम आय योजना भी शुरू करने पर भी विचार कर रही है। इससे आठ लाख 50 हजार लोगों को फायदा होगा।  

वियतनाम : पांच दिन से कोई मामला नहीं
वियतनाम में बीते पांच दिन से संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया। यह जानकारी शिन्हुआ न्यूज एजेंसी ने दी है। हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, 14 हजार 700 लोगों पर या तो नजर रखी जा रही है या उन्हें क्वारैंटाइन किया गया है। देश में अब तक किसी व्यक्ति की संक्रमण से मौत नहीं हुई है। यहां अब तक कुल 324 कन्फर्म केस हैं। 267 रिकवर यानी स्वस्थ हो चुके हैं। 57 एक्टिव केस हैं। 

वियतनाम के हा लोंग बीच शहर में मौजूद पर्यटक। देश में पांच दिन से संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया। 

इटली : मौतों के मामले में तीसरा स्थान
24 घंटे में यहां 119 लोगों की मौत हुई। कुल आंकड़ा 32 हजार 735 हो गया। यह अमेरिका और ब्रिटेन के बाद सबसे ज्यादा है। यानी मौतों के लिहाज से इटली अब तीसरे स्थान पर आ गया है। शुक्रवार और शनिवार के बीच यहां 669 मामले सामने आए। कुल मामले 2 लाख 29 हजार 372 हो गए।   

इटली के रोम शहर से कुछ दूरी पर सांता सेवेरा बीच पर टहलता कपल। शनिवार को यहां के हेल्थ डिपार्टमेंट ने बताया कि कुल मौतों के मामले में इटली अब तीसरे स्थान पर आ गया है। अमेरिका पहले और ब्रिटेन दूसरे स्थान पर है।

सूडान : मेडिकल वर्कर्स के लिए नया पुलिस बल

यहां सरकार एक नया पुलिस बल तैयार कर रही है। खास बात ये है कि यह बल सिर्फ मेडिकल वर्कर्स को सुरक्षा देगा। दरअसल, दो महीने में यहां डॉक्टरों और दूसरे मेडिकल स्टाफ पर कई हमले हो चुके हैं। शुक्रवार को डॉक्टर्स ने सरकार से कहा कि अगर उन्हें सुरक्षा नहीं दी गई तो वो हड़ताल पर चले जाएंगे। इसके बाद सरकार ने मेडिकल वर्कर्स की सुरक्षा के लिए नई पुलिस यूनिट बनाने का फैसला लिया।  

थाईलैंड : बंदरों पर वैक्सीन का परीक्षण
यहां के वैज्ञानिक अब एक कोरोना वैक्सीन का परीक्षण बंदरों पर करेंगे। इसके पहले चूहों पर इसका टेस्ट किया गया था। ये काफी सफल रहा था। वैज्ञानिकों का कहना है कि बंदरों पर किए गए परीक्षण के परिणाम सितंबर तक आ जाएंगे। एजुकेशन मिनिस्टर सुवित ने कहा- यह प्रोजेक्ट सिर्फ थाईलैंड के लोगों के लिए नहीं है। हम सभी लोगों के लिए काम कर रहे हैं। 

थाईलैंड के बैंकॉक शहर में कार्टून कैरेक्टर्स के जरिए कोरोनावायरस से बचने की सलाह दी जा रही है। यहां के वैज्ञानिक एक कोरोना वैक्सीन पर रिसर्च कर रहे हैं। पहला ट्रायल चूहों पर किया गया था। दूसरा बंदरों पर किया जाएगा। 

रूस : हेल्थ वर्कर्स पर खतरा बढ़ा

शनिवार को यहां 9 हजार 434 केस सामने आए। कुल संख्या तीन लाख से ज्यादा हो गई। इस बीच हेल्थ वर्कर्स की सुरक्षा को लेकर चिंताएं बढ़ती जा रही हैं। पिछले हफ्ते कुछ डॉक्टरों ने सोशल मीडिया पर शिकायत में कहा- हमारे पास पीपीई किट समेत कुछ सुरक्षा उपकरणों की कमी है। एक वीडियो भी वायरल हुआ था। इसमें एक नर्स को स्टोर रूम में बॉटल लगाई जा रही थी। सरकार ने इस बारे में अब तक औपचारिक तौर पर कोई बयान नहीं दिया है।

संक्रमण के कुल मामलों में रूस दूसरे स्थान पर है। यहां मेडिकल वर्कर सरकार से नाखुश हैं। उनका आरोप है कि उन्हें पर्याप्त पीपीई किट और दूसरे सुरक्षा उपकरण उपलब्ध नहीं कराए गए हैं। तस्वीर सेंट पीटर्सबर्ग के एक लैब में टेस्टिंग करती कर्मचारी की।

ईरान : लॉकडाउन में ढील

24 घंटे में यहां 59 लोगों की मौत हुई। लॉकडाउन में ढील देने का सिलसिला का जारी है। यहां कारोबारी और धार्मिक गतिविधियां शुरू हो चुकी हैं। कुछ फैसले ईद को देखते हुए लिए गए हैं। म्यूजियम और ऐतिहासिक स्थान फिर खोले जा रहे हैं। एक और अहम बात ये है कि अगले शनिवार से यहां सभी सेक्टर्स में पूरी तरह कामकाज शुरू हो जाएगा। यहां एक लाख 33 हजार मामले हैं। सात हजार 359 लोगों की मौत हो चुकी है। 

ईरान में ईद के पहले कुछ और बंदिशें हटाई गई हैं। बाजार खुल गए हैं। ईद के बाद आने वाले शनिवार को सभी तरह के कारोबार शुरू कर दिए जाएंगे। तस्वीर राजधानी तेहरान के एक बाजार की मुख्य सड़क से गुजरती महिलाओं की है।

न्यूयॉर्क : 10 लोग जुट सकेंगे

न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रू क्यूमो ने राज्य के निवासियों को बड़ी राहत दी है। शनिवार को उन्होंने एक ऑर्डर पर दस्तखत किए। अब एक स्थान पर 10 लोग जुट सकेंगे। इसके लिए दो शर्तें हैं। पहली- उन्हें 6 फीट की दूरी रखनी होगी। दूसरी- अगर उन्हें करीब खड़ा होना है, यानी छह फीट की दूरी नहीं रखनी है तो फिर सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा। हालांकि, दूसरे कुछ प्रतिबंधों में कोई राहत नहीं दी गई है। इन पर सोमवार को विचार किया जाएगा। 

न्यूयॉर्क : बीच पर जाएं, लेकिन तैर नहीं सकते
यहां के मेयर बिल डि ब्लासियो ने भी शनिवार शाम एक बयान जारी किया। कहा- मैं जानता हूं कि शहर के लोग बाहर निकलना चाहते हैं। बीच पर तफरीह करना चाहते हैं। वो ऐसा जरूर कर सकते हैं। लेकिन, वो समुद्र में तैरने का आनंद नहीं ले सकते। हमने सभी लाइफगार्ड्स फिलहाल हटा रखे हैं।

न्यूयॉर्क के लॉन्ग बीच पर समुद्र की लहरों को निहारते लोग। प्रशासन ने साफ कर दिया है कि शहर के बीच पर लोग जा तो सकते हैं लेकिन वहां तैरने की इजाजत नहीं होगी।

डब्लूएचओ की चेतावनी
डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि महामारी के कारण Eight करोड़ नवजात को समय पर वैक्सीन मिलने में परेशानी हो सकती है। दुनिया भर में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं प्रभावित हुई हैं। इससे बच्चों को डिफ्थेरिया, पोलियो और मीजल्स जैसी टीकों का रूटीन गड़बड़ हो सकता है। संगठन के मुताबिक, एक साल से कम उम्र के बच्चों को दिया जाने वाला टीकों का काम लगभग 68 देशों में प्रभावित हुआ है।

रूस: 3.35 लाख संक्रमित

रूस में 24 घंटे में संक्रमण के 9434 मामले सामने आए हैं और 139 लोगों की जान गई है। इसके साथ ही देश में संक्रमितों की संख्या Three लाख 35 हजार 882 हो गई है, जबकि 3388 लोगों की मौत हो गई है। यह अमेरिका के बाद दूसरा सबसे ज्यादा संक्रमितों वाला देश है।

मॉस्को में महामारी के प्रकोप के बीच मास्क पहनकर घूमने निकला कपल। रूस दुनिया में दूसरा सबसे संक्रमित देश हो गया है।

बांग्लादेश: 1873 नए मामले मिले
बांग्लादेश में 1873 नए मामले मिले हैं। यहां संक्रमितों का आंकड़ा 32 हजार 78 हो गया है। Eight मार्च के बाद यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। वहीं, एक दिन में 20 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही मौतों का आंकड़ा 452 हो गया है। 24 घंटे में देशभर में 10 हजार 834 सैंपल की जांच हुई है।

चीन: एक भी मामला नहीं मिला
महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार चीन में संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। कोरोना की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी। पहला मामला 31 दिसंबर को सामने आया था। अब तक यहां 4634 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 82 हजार 971 लोग संक्रमित हो चुके हैं।

चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) के पहले दिन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों ने मास्क पहनकर मार्चपास्ट किया।

ब्राजील: 20 हजार से ज्यादा नए मामले

डब्ल्यूएचओ ने शुक्रवार को कहा कि दक्षिण अमेरिका महामारी का नया एपिसेंटर बन गया है। यहां अब तक 5 लाख 80 हजार मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 29 हजार 444 लोगों की जान जा चुकी है। उधर, ब्राजील में 24 घंटे में 20 हजार 803 नए केस मिले हैं और 1001 लोगों की मौत हुई। संक्रमण के मामले में यह अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा प्रभावित देश हो गया है। यहां कुल केस Three लाख 32 हजार 382 हो चुका है, जबकि 21 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं।

अमेरिका: एक दिन में 1260 की मौत
अमेरिका में 24 घंटे में 1260 लोगों की जान गई है और संक्रमण के 24 हजार 197 मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में मरने वालों की संख्या 97 हजार 647 हो गई है, जबकि 16 लाख 45 हजार 94 लोग संक्रमित हैं।

न्यूयॉर्क में बीच खोल दिए गए हैं। लॉन्ग बीच पर अपने बच्चे के साथ सर्फिंग करने जाता युवक।

ट्रम्प जो दवा ले रहे उससे खतरा ज्यादा
लेंसेट जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन या क्लोरोक्वीन दवा से कोई फायदा नहीं होता। इसके इस्तेमाल से मरने का खतरा ज्यादा है। आमतौर पर इस दवा का इस्तेमाल आर्थराइटिस के लिए किया जाता है। हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था कि वे खुद हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट लेते हैं। इसके बाद हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और क्लोरोक्विन के फायदों पर नई बहस शुरू हो गई।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, व्हाइट हाउस प्रेस सचिव कायले मैकनेनी और व्हाइट हाउस कोरोना टास्क फोर्स की सदस्य डॉ. डेबोराह ब्रिक्स महामारी को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान।

कनाडा: ‘संक्रमित होने वाले लोगों का पता लगाने को तैयार’
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने शुक्रवार को घोषणा की है कि उनकी सरकार हर दिन महामारी से संक्रमित होने वाले लोगों का पता लगाने के लिए तैयार है। ट्रूडो ने कहा कि सरकार ने इसके लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया है जो एक दिन में 3,600 संपर्क पता लगा सकते हैं। इसके अलावा कनाडा सांख्यिकी ने 1,700 लोगों को प्रशिक्षित किया है जो एक दिन में 20 हजार लोगों का पता लगा सकते हैं। सरकार संभावित ऐप विकल्पों पर ध्यान लगा रहा है, जो संपर्क पता लगाने में सहायता करेगी। यह उपकरण चीन और अन्य देशों में पहले ही लागू हैं।

ब्रिटेन : 14 दिन सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा

गृह मंत्री प्रीति पटेल ने शुक्रवार को कहा कि Eight जून से जो भी व्यक्ति ब्रिटेन आएगा, उसे 14 दिन सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा। सिर्फ उन्हें इससे अलग रखा जाएगा जो छूट के दायरे में आते हैं। ब्रिटिश सरकार ने यात्रा से संबंधित नए नियम भी जारी किए हैं। नियम तोड़ने वालों को जुर्माना भी देना होगा। देश में अब तक 36 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 2 लाख 54 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं।

लंदन में एक बीच पर धूप सेकते लोग। ब्रिटेन में 36 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं।

तुर्की: संक्रमितों की संख्या 25 मार्च के बाद सबसे कम
तुर्की में 24 घंटे में संक्रमण के 952 मामले सामने आए हैं। 25 मार्च के बाद से यह संक्रमितों की संख्या में सबसे कम संख्या है। स्वास्थ्य मंत्री फहरेटिन कोजा ने शुक्रवार देर ट्वीट किया- संक्रमितों की कुल संख्या 1,54,500 हो गई है। शुक्रवार को 27 मरीजों की जान गई है। मरने वालों की संख्या 4,276 हो गई है।”

तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैय्यप अर्दोआन और स्वास्थ्य मंत्री फहरेटिन कोजा बासकेशिर शहर के एक अस्पताल के उद्घाटन से पहले निरीक्षण करते हुए। अस्पताल को तुर्की और जापानी कंपनियों ने संयुक्त रूप से बनाया है।

यूएई: 994 नए मामले
संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में महामारी के 994 नए मामले आने से देश में संक्रमितों की कुल संख्या 27,892 हो गई है। यूएई स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि कई विदेशी नागरिकों में नए मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि, सभी की हालत स्थिर है। देश में अब तक 13,798 लोग ठीक हो चुके है। वहीं, मरने वालों की संख्या 241 हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here