four घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में उनके पिता केके सिंह ने सीबीआई जांच की मांग की है। मंगलवार सुबह उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस बारे में चर्चा की। इसके बाद सरकार मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश कर रही है।

  • बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे का कहना है कि वे इस मामले में चुप नहीं बैठेंगे और मुंबई पुलिस से सवाल करेंगे कि इस लीड को क्यों छोड़ा गया?
  • मुंबई भेजने के लिए मुंगेर से डीआईजी मनु महाराज, एटीएस डीआईजी विकास वैभव और एसटीएफ डीआईजी विनय कुमार के नाम पर चर्चा चल रही है
  • पटना एसपी विनय तिवारी रविवार को फ्लाइट से मुंबई पहुंचे थे, बीएमसी ने उन्हें कोरोना नियमों का हवाला देकर 15 अगस्त तक के लिए क्वारैंटाइन कर दिया

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने आरोप लगाया है कि मुंबई पुलिस ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच फाइनेंशियल एंगल से नहीं की। उनका कहना है कि पिछले चार साल में सुशांत के खाते से 50 करोड़ रुपए निकाले गए। 15 करोड़ रुपए तो पिछले एक साल में निकाले गए।

मीडिया से बातचीत में पांडे ने कहा, “चार साल में सुशांत के खाते में लगभग 50 करोड़ रुपए क्रेडिट हुए थे। हैरत की बात यह है कि यह पूरी की पूरी रकम निकाल ली गई। पिछले एक साल में उनके खाते में 17 करोड़ रुपए जमा हुए, जिसमें से 15 करोड़ रुपए निकाल लिए गए। क्या इस बिंदु से जांच नहीं होनी चाहिए? हम चुप बैठने वाले नहीं हैं। हम मुंबई पुलिस से सवाल करेंगे कि इस लीड को क्यों छोड़ा गया?”

इधर, डीआईजी स्तर के अधिकारियों को मुंबई भेजने की तैयारी

मामले में बिहार और मुंबई पुलिस के बीच की खींचतान थमने का नाम नहीं ले रही है। पटना एसपी विनय तिवारी को जबरदस्ती क्वारैंटाइन किए जाने के बाद अब बिहार सरकार डीआईजी स्तर के अधिकारियों को मुंबई भेजने की तैयारी में है। सूत्रों की मानें तो मुंगेर से डीआईजी मनु महाराज, एटीएस डीआईजी विकास वैभव और एसटीएफ डीआईजी विनय कुमार के नाम पर चर्चा चल रही है। सबकुछ ठीक रहा तो ये तीनों सुपर कॉप मुंबई जाकर सुशांत की डेथ मिस्ट्री को सुलझाएंगे।

इस बार सड़क मार्ग से भेजे जाएंगे ऑफिसर्स

पटना एसपी विनय तिवारी फ्लाइट से मुंबई पहुंचे थे और बीएमसी ने उन्हें कोरोना नियमों का हवाला देकर 15 अगस्त तक के लिए क्वारैंटाइन कर दिया। इससे सबक लेते हुए इस बार ऑफिसर्स को सड़क मार्ग से भेजने की तैयारी है। बताया जा रहा है कि चयनित अधिकारियों को सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए मुंबई के लिए रवाना होंगे।

विनय तिवारी को क्वारैंटाइन किए जाने से नाराजगी

विनय तिवारी को जबरदस्ती क्वारैंटाइन किए जाने के बाद से बिहार के पुलिस महकमे में भारी नाराजगी की है। उनके मुताबिक, तिवारी ने मुंबई पहुंचने से पहले वहां की पुलिस को आधिकारिक तौर पर इन्फॉर्म किया था। बावजूद इसके उन्हें जिस तरह कोरोना नियमों का हवाला देकर क्वारैंटाइन में भेजा गया, उससे लगता है कि मुंबई पुलिस ने उनके खिलाफ कार्रवाई की है।

जांच प्रभावित करने का आरोप

बिहार पुलिस का आरोप है कि मुंबई पुलिस ने विनय तिवारी को जबर्दस्ती क्वारैंटाइन कर दिया और अब उनकी और बीएमसी की नजर एसआईटी (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) पर है, जो कि फिलहाल मुंबई में ही अंडरग्राउंड हो गई है। बीएमसी की टीम एसआईटी की तलाश कर रही है, ताकि जांच प्रभावित की जा सके। बताया जा रहा ही कि सोमवार को दिनभर पटना से आई एसआईटी की तलाश की गई। मुंबई पुलिस की मदद से उन्हें होटलों में तलाशा गया।

पटना आईजी ने बीएमसी को पत्र लिखा

इधर, पटना के आईजी संजय सिंह ने बीएमसी के कमिश्नर इकबाल चहल को पत्र लिखकर एसपी विनय तिवारी को मुक्त करने की अपील की है। उन्होंने कोरोना नियमों का हवाला भी दिया है। संजय सिंह ने पत्र में लिखा है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशा निर्देशानुसार जांच में लगे अधिकारियों को ड्यूटी करने से नहीं रोका जा सकता।

25 जुलाई से अब तक सुशांत केस में क्या हुआ?

  • 25 जुलाई को सुशांत के पिता केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ उनके बेटे के साथ धोखाधड़ी और उन्हें आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया। यह आरोप भी लगाया कि रिया और उनके करीबियों के खातों में सुशांत के बैंक खाते से 15 करोड़ रुपए सालभर में ट्रांसफर हुए।
  • 28 जुलाई को पटना पुलिस के चार अधिकारियों की एसआईटी मुंबई पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी। उसी रात रिया चक्रवर्ती और उनका परिवार घर से लापता हो गया । उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में मामले को पटना से मुंबई ट्रांसफर करने की याचिका लगाई।
  • 29 जून को पटना पुलिस ने रिया और उनके परिवार की तलाश की। लेकिन वे नहीं मिलीं। इस बीच सुशांत की बहन मीतू, कुक नीरज, दोस्त सिद्धार्थ पिठानी, फिल्ममेकर रूमी जाफरी समेत 10 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की गई।
  • 31 जुलाई को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रिया के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस फाइल किया और जांच शुरू की।
  • 31 जुलाई को रिया चक्रवर्ती का पहला रिएक्शन सामने आया। उन्होंने सोशल मीडिया पर 20 सेकंड का वीडियो शेयर किया, जिसमें वे रोते हुए हाथ जोड़कर कह रही थीं, “मुझे भगवान और न्यायपालिका पर अटूट विश्वास है। मुझे यकीन कि मुझे न्याय मिलेगा। भले ही इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में मेरे बारे में बहुत सी भयानक बातें कही जा रही हैं, मैं फिर भी अपने वकील की सलाह के अनुसार कोई भी कमेंट करने से बचना चाहूंगी। क्योंकि मामला कोर्ट में है। सत्यमेव जयते। सत्य की जीत होगी।”
  • 1 अगस्त को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पहली प्रतिक्रिया सामने आई। उन्होंने कहा कि वे इस मामले को बिहार बनाम महाराष्ट्र नहीं बनने देंगे। साथ ही यह भी कहा कि अगर किसी के पास मामले से जुड़े सबूत हों तो उन्हें दिए जाएं। ताकि वे दोषियों को सजा दिला सकें।
  • 2 अगस्त को पटना एसपी विनय तिवारी जांच के लिए फ्लाइट से मुंबई पहुंचे। लेकिन रात 11 बजे बीएमसी की टीम ने उन्हें कोरोना नियमों का हवाला देकर जबरन क्वारैंटाइन कर दिया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसे लेकर नाराजगी जाहिर की।
  • three अगस्त को मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि उन्हें सुशांत के खाते से रिया के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर होने के कोई सबूत नहीं मिले। उन्होंने यह भी कहा कि सुशांत मौत से पहले बिना दर्द के मौत जैसी चीजें सर्च किया करते थे।
  • three अगस्त को रिया के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि एक्ट्रेस गायब नहीं हुई है, बल्कि पुलिस को पूरा सहयोग कर रही है। साथ ही यह भी कहा कि बिहार पुलिस को मामले की जांच का अधिकार नहीं है। इसलिए रिया ने सुप्रीम कोर्ट में केस को पटना से मुंबई ट्रांसफर करने की याचिका लगाई है।

सुशांत केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती के वकील का बयान:एक्ट्रेस के वकील ने कहा- वे लापता नहीं हुई हैं, जांच में सहयोग कर रहीं, बिहार पुलिस ने उन्हें आज तक कोई नोटिस नहीं भेजा

सुशांत सुसाइड केस:एफआईआर दर्ज होने के बाद रिया चक्रवर्ती का पहला रिएक्शन, रोते हुए हाथ जोड़कर बोलीं- मुझे न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा, जीत सत्य की होगी

सुशांत के बैंक स्टेटमेंट से खुला राज:रिया चक्रवर्ती ने 5 बार पूजा-पाठ के नाम पर निकाले थे पैसे, परिवार का दावा- पैसे का इस्तेमाल सुशांत पर जादू-टोने के लिए किया गया

मुंबई पुलिस कमिश्नर का खुलासा:सुशांत गूगल पर दर्द रहित मौत के बारे में सर्च करते थे, 2019 में जनवरी से जून के बीच उनके खाते में 14.5 करोड़ रुपए क्रेडिट हुए थे

0

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here