नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) में मंगलवार को सिंध के मानव संसाधन मंत्री गुलाम मुर्तजा बलोच की कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से मौत हो गयी है. मंगलवार को भी दुनिया भर में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी बनी रही और कुल 1,10,000 से ज्यादा नए केस सामने आए हैं. इसके बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर अब 64,74,000 से भी ज्यादा हो गयी है. बीते 24 घंटे में संक्रमण (Covid-19) से दुनिया भर में 4500 से ज्यादा मौतें हुईं हैं और कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर अब 3,81,700 से भी ज्यादा हो गया है. ब्राजील ((Brazil), अमेरिका (US), रूस (Russia), भारत (India), पाकिस्तान (Pakistan) और पेरू में सबसे ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं.

 

#दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस संक्रमण के 49 नए मामले
दक्षिण कोरिया में कोविड-19 के 49 नए मामले सामने आए हैं जिससे देश में चिंता बढ़ गयी है क्योंकि लाखों बच्चों ने स्कूल जाना शुरू कर दिया है. कोरिया बीमारी नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार देश में संक्रमण के 11,590 मामले हैं और 273 लोगों की मौत हो चुकी है. नए मामले में से कुछ सियोल मेट्रोपोलिटन क्षेत्र से हैं। यहां पहले से ही सैकड़ों लोग संक्रमित हैं जिनका संबंध मनोरंजन स्थलों, प्रार्थना सभाओं और एक ई-कॉमर्स गोदाम से जुड़ा है. सियोल के मेयर और गवर्नर ने हजारों नाइटक्लब, होस्टेस बार, चर्च, शादी घरों को फिर से बंद कर दिया है ताकि वायरस के संक्रमण को रोका जा सके. हालांकि संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद भी सरकार स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोलने की दिशा में आगे बढ़ रही है. यहां हाई स्कूलों को 20 मई से खोल दिया गया है. वहीं बुधवार से हाई स्कूल, मिड्ल स्कूल और तीसरी-चौथी कक्षाओं के बच्चों के लिए स्कूल खोलने की योजना है.#ईरान में फिर बढ़ने लगे संक्रमण के केस

ईरान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि बीते चौबीस घंटों में दैश में कोरोना संक्रमण के 3,117 नए मामले दर्ज किए गए हैं. मार्च के आख़िर में ईरान में कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़े थे लेकिन हाल में इसमें कमी आई थी, लेकिन अब एक बार फिर बड़ी संख्या में लोग कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं.

#ब्रिटेन में मरने वालों की संख्या 49 हज़ार के क़रीब
ब्रिटेन में कोरोना से मरने वालों की संख्या 40 हज़ार के क़रीब हो चुकी है, जबकि 2.79 लोग इससे संक्रमित हैं. ब्रिटेन में गरीबी के मुद्दे पर का कर रहे कार्यकर्ताओं का कहना है कि लॉकडाउन के पहले महीने, मार्च में देश के फूड बैंकों पर भारी दवाब पड़ा है. वहीं अप्रैल में मांग रिकॉर्ड स्तर पर रही है. कार्यकर्ताओं का कहना है कि कोरोना महामारी के कारण गरीब परिवार और अधिक गरीब हुए हैं और सरकार का सोशल सिक्योरिटी नेटवर्क इन स्थिति को रोकने के लिए नाकाफी रही है.

#अमेरिका

अमेरिका के 40 राज्यों में जरी प्रदर्शन के बीच कोरोना संक्रमण के मामलों में भी फिर तेजी देखी जा रही है. मंगलवार को यहां संक्रमण के 21,800 नए केस सामने आए हैं जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 18,81,200 से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में यहां संक्रमण से 1130 से ज्यादा लोगों ने जान गंवा दी जिसके बाद कुल मौतों की संख्या बढ़कर अब 1,08,059 हो गयी है.

#ब्राजील
ब्राजील ने नए केस के मामले में भी अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है और मंगलवार को यहां संक्रमण के 27,000 से ज्यादा नए केस सामने आए हैं जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 5,56,668 हो गए हैं. बीते 24 घंटे में यहां संक्रमण से 1232 लोगों की मौत हुई जिसके बाद कुल मौतों की संख्या बढ़कर 31,700 से ज्यादा हो गयी है.

#पाकिस्तान के सिंध प्रांत में मंत्री की कोरोना वायरस से मौत
पाकिस्तान के दक्षिण-पूर्वी सिंध प्रांत में मंगलवार को कोविड-19 संक्रमण से एक प्रांतीय मंत्री की मौत हो गई. समाचार पत्र ‘डॉन’ की खबर के अनुसार सिंध के मानव संसाधन मंत्री गुलाम मुर्तजा बलोच 14 मई को कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे. उन्होंने इसकी जानकारी ट्विटर पर साझा करते हुए उन्होंने लोगों से उनके जल्द स्वस्थ होने की दुआ करने की अपील की थी. सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने एक बयान में कहा, ‘कोरोना वायरस के चलते बलोच का निधन हो गया। वह पीपीपी के बहादुर और मेहनती सदस्य थे. उनकी जगह किसी और को मिलना मुश्किल है.’
#ब्रिटेन में भारतीय मूल के वृद्ध पुरुष अत्यधिक जोखिम वाले वर्ग में
कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभाव को लेकर ब्रिटेन सरकार द्वारा की गई समीक्षा के अनुसार भारतीय मूल के वृद्ध पुरुष जान के अत्यधिक जोखिम वाले वर्ग में आते हैं. हाउस ऑफ कॉमंस में मंगलवार को पेश पब्लिक हेल्थ इंग्लैड की ‘कोविड-19 के जोखिम और परिणामों में असमानताएं’ नामक रिपोर्ट में कहा गया है कि उम्र और लिंग बीमारी से जुड़े जोखिम वाले कारकों में प्रमुख हैं. 40 साल के लोगों के मुकाबले 80 या उससे अधिक उम्र के लोगों की मौत की संभावना 70 गुना अधिक है. इसके अलावा अश्वेत और एशियाई अल्पसंख्यक जातीय समूह के लोगों को श्वेत जातीय समूहों के मुकाबले अधिक खतरा है. ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने संसद में कहा, ‘इससे पता चलता है कि अश्वेत या अल्पसंख्यक समूह के लोगों को अधिक खतरा है. यह नस्लीय असमानता उम्र, सुविधाओं का अभाव, क्षेत्र और लिंग के प्रभाव का आकलन करने के बाद सामने आई है.’
#नेपाल में कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 288 मामले सामने आए
नेपाल में मंगलवार को एक दिन में कोरोना वायरस के सर्वाधिक 288 नये मामले सामने आए जिससे देश में इसके कुल रोगियों की संख्या 2099 हो गई है. स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्रालय के मुताबिक, नये मामलों में 18 महिलाएं हैं. संक्रमण के नये मामलों में सर्वाधिक 74 रौताहाट से हैं. इसी प्रकार सुरखेत से 27, सरलाही से 21, कपिलवस्तु, सिरहा और डांग से 17-17 मामले सामने आए हैं. शेष मामले स्यांगजा, बरदिया, प्यूथान, कंचनपुर, कैलाली, धनुष्का, खादिंग, नवलपारसी, नुवाकोट, रूपनदेही और काठमांडू से सामने आए हैं. मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस के 45 मरीज ठीक हो गए हैं, जिससे अभी तक ठीक हुए लोगों की संख्या 266 हो गई है.

#लाहौर में हो सकते हैं बिना लक्षण वाले 6,70,000 मामले
एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के लाहौर में बिना लक्षणों वाले कोविड-19 के अनुमानित छह लाख 70 हजार मामले हो सकते हैं. रिपोर्ट में पंजाब प्रांत की सरकार को इस बाबत आगाह किया गया है और अधिकारियों से आग्रह किया गया है कि संक्रमण के मामलों में “अप्रत्याशित” वृद्धि को देखते हुए स्वास्थ्य सुविधाओं की तैयारी पुख्ता की जाए. लाहौर पंजाब की राजधानी है जहां अब तक 27,850 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. पाकिस्तान में मंगलवार को कोविड-19 के 3,938 ताजा मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 76,398 हो गई. देश में अब तक संक्रमण से 1,621 मौतें हो चुकी हैं.

पंजाब के स्वास्थ्य विभाग की ओर से सोमवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों का पता लगाने के लिए लाहौर के अधिकतम स्थानों में हाल ही में सर्वेक्षण किया गया था. रिपोर्ट में कहा गया, ‘जिन लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई उनके प्रतिशत को देखते हुए अनुमान लगाया गया है कि लाहौर में कोविड-19 के बिना लक्षण वाले 6,70,000 मरीज हो सकते हैं.’ रिपोर्ट में कहा गया, ‘संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए विशेषकर लाहौर में यह सुझाव दिया गया है कि आने वाले दिनों में किसी भी अप्रत्याशित स्थिति से निपटने के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधाओं को समय रहते तैयार किया जाए.’ सर्वेक्षण रिपोर्ट का एक विस्तृत सारांश पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार को पिछले महीने सौंप दिया गया था.

#इंडोनेशिया ने कोरोना वायरस के कारण हज यात्रा रद्द की
इंडोनेशिया सरकार ने कोरोना वायरस महमारी के मद्देनजर इस साल हज यात्रा पर अपने नागरिकों को नहीं भेजने का फैसला किया है. इंडोनेशिया के धार्मिक मामलों के मंत्री एफ राज़ी ने बताया कि सऊदी अरब ने अब तक इस बात का ऐलान नहीं किया है कि जुलाई में होने वाले हज के लिए वह अन्य देशों को अनुमति देगा या नहीं और हज के लिए तैयारी करने के लिए काफी देर हो गई है. राजी ने कहा कि सरकार 2020 के हज के लिए अपने नागरिकों को नहीं भेजगी. इंडोनेशिया में दुनिया में सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी रहती है. देश सऊदी अरब में इस्लाम के सबसे मुकद्दस (पवित्र) शहरों मक्का और मदीना के लिए सबसे ज्यादा हज यात्रियों को भेजता है. उसे इस साल 221,000 यात्री भेजने थे. राजी ने कहा कि पहले की महामारी के दौरान हज करने की इजाजत देने से हजारों लोग उनसे पीड़ित हो गए थे.

#चीन ने कोरोना वायरस की जानकारी दुनिया को देर से दी
इस साल जनवरी के पूरे महीने के दौरान विश्व स्वास्थ्य संगठन तुरंत जानकारी मुहैया कराने के लिए सार्वजनिक रूप से चीन सरकार की प्रशंसा करता रहा था लेकिन तथ्य यह है कि चीनी अधिकारियों ने नये वायरस के जीनोम की जानकारी तब जारी की जब एक हफ्ते पहले ही कई देश अपनी-अपनी प्रयोगशालाओं में कोरोना वायरस की आनुवंशिकी का पता लगा चुके थे. चीन ने संक्रमण के जांच के लिए तैयार किट, दवा या टीका के बारे में भी कोई जानकारी नहीं दी.

एसोसिएटेड प्रेस को मिले आंतरिक दस्तावेज, ईमेल और दर्जनों साक्षात्कार से पता चलता है कि सूचनाओं पर सख्त नियंत्रण और चीन के जन स्वास्थ्य प्रणाली के भीतर ही प्रतिस्पर्धा की वजह से यह हुआ. संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी डब्ल्यएचओ की जनवरी में हुई कई आंतरिक बैठकों के मुताबिक चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने नये वायरस के जीनोम की जानकारी 11 जनवरी को विषाणुरोग एजेंसी की वेबसाइट पर संबंधित सूचना सार्वजनिक किए जाने के बाद दी. इसके बाद भी चीन ने दो हफ्ते से अधिक समय तक डब्ल्यूएचओं को जरूरी जानकारी नहीं दी.

#गिलेड साइंसेज का दावा, कोरोना वायरस से बीमारों पर दवा ने किया असर
अमेरिका के कैलिफोर्निया की एक बायोटेक कंपनी का कहना है कि इसकी प्रायोगिक दवा रेमेडीसिविर को कोविड-19 से मामूली रूप से बीमार, अस्पताल में भर्ती मरीजों को पांच दिन तक देने पर लक्षणों में सुधार देखा गया है. गिलेड साइंसेज ने सोमवार को कुछ विवरण दिया, लेकिन कहा कि पूर्ण नतीजे मेडिकल जर्नल में जल्द प्रकाशित किए जाएंगे. प्रयोगों में रेमेडीसिविर एक ऐसी दवा के रूप सें उभरी है जिससे इस कोरोना वायरस की लाइलाज बीमारी से लड़ने में मदद की उम्मीद जगी है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान की अगुवाई में एक बड़ा अध्ययन किया गया था जिसमें पाया गया कि यह दवा गंभीर रुप से बीमार अस्पताल में भर्ती मरीजों के ठीक होने की औसत अवधि को कम करती है. यह दवाई ठीक होने के दिनों को 15 से घटाकर 11 दिन करती है. यह दवा इंजेक्शन के जरिए नस में डाली जाती है. जापान में कोविड-19 के मरीजों का इलाज करने के लिए इसे स्वीकृति दी गई है. अमेरिका में भी इसे कुछ मरीजों को आपात स्थिति में देने की इजाजत दी गई है.

#सिंगापुर में कोरोना वायरस संक्रमण के 544 नए मामले, लॉकडाउन में ढील शुरु
सिंगापुर में मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 544 नए मामले सामने आए. इस बीच देश में करीब दो महीने से जारी लॉकडाउन की अवधि समाप्त होने के बाद पहले चरण में कम जोखिम वाले व्यवसायों को फिर से शुरु करने की अनुमति मिल गयी है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि नए मामलों में केवल एक सिंगापुर का नागरिक है और बाकी सभी लोग विदेशी कर्मचारी हैं जो यहां तंग डॉर्मिटरी में रहते हैं. ऐसे स्थान कोरोना वायरस के प्रमुख केंद्र के रूप में सामने आए हैं. सिंगापुर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 35,836 हो गयी है. कोविड-19 के कारण एक चीनी नागरिक की मौत के बाद बीमारी के कारण मृतकों की संख्या बढ़कर 24 हो गयी है.

#हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन से प्रभावित हो सकती है हृदय की धड़कन
अनुसंधानकर्ताओं ने ऑप्टिक्ल मैपिंग प्रणाली का इस्तेमाल यह दर्शाने में किया है कि किस तरह मलेरिया की दवा ‘हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन’ हृदय की धड़कन को नियंत्रित करने वाले विद्युत संकेतों में गंभीर गड़बड़ी पैदा करती है. इस दवा का प्रचार कोविड-19 के संभावित उपचार के तौर पर किया गया. अमेरिका के जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के वैज्ञानिकों समेत अन्य अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि यह अध्ययन इस बात पर प्रकाश डालता है कि कैसे यह दवा हृदय की धड़कन को गंभीर रूप से प्रभावित करती है.

‘हार्ट रिदम’ जर्नल में प्रकाशित इस अध्ययन में यह पाया गया कि यह दवा आश्यचर्यजनक रूप से हृदय की धड़कन में अनियमितता पैदा करती है. अध्ययन में, वैज्ञानिकों ने दो प्रकार के जानवरों के दिलों पर दवा के प्रभावों का आकलन किया, और पाया कि यह हृदय की धड़कन को नियंत्रित करने वाली विद्युत तरंगों के समय को बदल देती है. हालांकि जरूरी नहीं है कि जानवरों पर किया गया अध्ययन मनुष्यों पर भी लागू ही हो. वैज्ञानिकों का कहना है कि उन्होंने जो वीडियो बनाए हैं उसमें यह स्पष्ट दिखता है कि कैसे यह दवा हृदय में विद्युत तरंगों में गड़बड़ी पैदा कर सकती है.

#अफ्रीका महाद्वीप में संक्रमितों की संख्या 1.5 लाख से अधिक हुई
अफ्रीका महाद्वीप में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 1.50 लाख से अधिक हो गई है जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का कहना है कि 130 करोड़ की आबादी वाला यह महाद्वीप अब भी इस महामारी से सबसे कम प्रभावित हुआ है. अफ्रीका महाद्वीप में 54 देश हैं और इनमें से कई देश स्कूलों एवं अर्थव्यवस्था को खोलने को लेकर चिंतित हैं. रवांडा उप सहारा क्षेत्र का पहला देश है जिसने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन लागू किया था. इस हफ्ते देश में कोविड-19 से पहली मौत सामने आने के बाद उसने लॉकडाउन में ढील देने की गति धीमी कर दी. अफ्रीका में अबतक 4,300 से अधिक लोगों की कोरोना वायरस से मौत होने की पुष्टि हो चुकी है. महाद्वीप में स्थानीय स्तर पर संक्रमण फैल रहा है जबकि कई इलाकों में जांच और चिकित्सीय उपकरणों की भारी कमी है.

#वुहान में एक करोड़ लोगों की जांच, बिना लक्षण वाले 300 मामले सामने आए
चीन में कोरोना वायरस के केंद्र रहे वुहान में कम से कम एक करोड़ लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की गई जिसमें बिना लक्षण वाले 300 मामले सामने आए हैं. शहर की सरकार ने मंगलवार को बताया कि 98 लाख 90 हजार लोगों की जांच की गयी. इसमें बिना लक्षण वाले 300 मरीज मिले हैं. स्थानीय स्वास्थ्य आयोग की एक रिपोर्ट के अनुसार वुहान में इस साल जनवरी से अभी तक 50,340 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए, जिनमें से 3,869 लोगों की जान जा चुकी है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि चीन में सोमवार तक कोरोना वायरस के कुल 83,022 मामले सामने आए, जिनमें से 73 का अभी इलाज जारी है और 78,315 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है और 4,634 लोगों की इससे जान गई है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि सोमवार को देश में पांच बाहर से आए लोग संक्रमित मिले. वहीं 10 लोग बिना किसी लक्षण के संक्रमित पाए गए. अभी तक बिना किसी लक्षण के संक्रमित पाए गए 371 लोगों में से 39 विदेश से आए हैं. ये सभी चिकित्सकीय निगरानी में हैं.

 

ये भी पढ़ें:

किस खुफिया जगह पर खुलती है वाइट हाउस की सीक्रेट सुरंग

क्या है ट्रैवल बबल, जो आपको हवाई यात्रा के दौरान सेफ रखेगा?

कौन हैं काले कपड़ों में वे लोग, जिनसे डरकर डोनाल्ड ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा

कैसा है व्हाइट हाउस का खुफिया बंकर, जिसमें राष्ट्रपति ट्रंप को छिपाया गया

क्या है ट्रंप का वो नारा, जिसने अमेरिका में आग लगा दी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here